चर्चादेश-विदेशमीडिया टिप्पणी

सोचिये , क्या पाकिस्तान बदल रह। है?

351views

सोचिये , क्या पाकिस्तान बदल रह। है? पाकिस्तान में दो आतंकियों को दी गई फांसी 22 तुरत चढाये जायेंगे फांसी पर 19.12. 2014 पेशावर हमले के बाद पाकिस्तान सरकार और सेना के रवैये में जो बदलाव के संकेत मिल रहे थे वे आज साकार होते दिखे। हालांकि अभी हमें जल्दबाजी में कोई निष्कर्ष नहीं निकालना है। पर आतंकियों को फांसी दिए जाने के फरमान के बाद फैसलाबद में दो खूंखार आतंकियों को फांसी दे दी गई है। शुक्रवार को पाकिस्तान सरकार ने 22 आतंकियों को जल्द फांसी पर चढ़ाए जाने का फरमान जारी किया। गृह मंत्रालय की मंजूरी के बाद इन 22 आतंकियों समेत कुछ ही दिनों में कुल 85 आतंकवादियों को फांसी दी जा सकेगी। पहले चरण में 17 आतंकियों को फांसी दी जानी है। वहीं दूसरे चरण में 45 अन्य खूंखार आतंकियों को फांसी पर चढ़ाया जाएगा। इसी क्रम में आतंकवाद के मामले में पाकिस्तान की विभिन्न जेलों में कुल आठ हजार कैदियों को सजा-ए-मौत दी जाएगी। आज फांसी पर लटकाये गये में से एक पाकिस्तानी सेना में चिकित्सक रह चुका पूर्व सैनिक अकील उर्फ डॉ. उस्मान और दूसरा आतंकी अरशद मेहमूद था। ये पूर्व सैन्य जनरल परवेज मुशर्रफ की हत्या के प्रयास का दोषी था। पाकिस्तान के इन दोनों ही आतंकियों को प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के एलान के बाद सबसे पहले फांसी पर चढ़ाया जाना था। अकील उर्फ डॉ. उस्मान 2009 में रावलपिंडी में सेना के मुख्यालय पर आतंकी हमले का दोषी था। उसको रावलपिंडी सेना मुख्यालय पर हमले के दौरान ही घायलावस्था में गिरफ्तार किया गया था। हमले में 11 जवान मारे गए थे। उसे फांसी पर चढ़ाने के बाद उसका शव उसके भाई को सौंप दिया जाएगा। वहीं, 2003 में मुशर्रफ की हत्या के प्रयास में अरशद महमूद को सजा सुनाई गई है। इस हमले में मुशर्रफ तो बच गए, लेकिन 15 अन्य लोग मारे गए थे। अलकायदा से जुड़ा ये आतंकी एक जमाने में उम्दा घुड़सवार था। तो एक शु्रआत हुई है। लखवी को जमानत के बावजूद दूसरे कानून में जेल में रखना तथी उसकी जमानत रद्द कराने के लिये अपील का निर्णय के भी कुछ संकेत तो है ही। आगे देखते हैं।

Leave a Response

Awadhesh Kumar
A well known Public figure,Tv Panellist, Versatile senior Journalist,writer, popular public speaker in high demand, Political Analyst as well as Social Political Activist.

Top Reviews

Video Widget