AnalysisCommunalismSocial/ समाजStateराज्य

मुजफ्फरनगर मस्जिद में धमाका, सुरक्षा पर सवाल, एक हत्या के बाद सांप्रदायिक तनाव बरकरार

268views

मृतक का हुआ अंतिमmuzaffarnagar-Bhuma 1 संस्कार

भूम्मा में पैदा हुए सांप्रदायिक तनाव के बाद वहां की मस्जिद में अचावन धमाका पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़ा करती है। बड़े अधिकारियों सहित पुलिस के जवानों का उपस्थिति के बावजूद ऐसा कैसे हुआ? यह आने वाले समय का संकेत हो सकता है। जाहिर है,भूम्मा में विशेष सुरक्षा एवं शांति उपाय करने की आवश्यकता है। धमाके में मस्जिद के इमाम का घायल होना आग में घी का काम न कर जाये इसलिए पर प्रकार की सतर्कता व शांति पहल अनिवार्य है।
30 जून की सुबह अचानक घटनास्थल के पास मस्जिद में हुए तेज धमाके से लोग दहल गए। पुलिस अंदर गई तो वहां मस्जिद का इमाम मुनीर जख्मी मिला। पास में एक सुतली बम भी बरामद किया गया। मस्जिद में आए जमाती भी अंदर ही रह गए। मुस्लिम पक्ष के लोग उन्हें लेने पहुंचे, लेकिन पुलिस ने फिलहाल सुरक्षित नहीं होने का हवाला देते हुए उन्हें अंदर ही रहने के निर्देश दिए। मस्जिद के मौलाना का आरोप था कि दो सुतली बम बाहर से फेंके गए हैं, जबकि आसपास के लोगों का कहना था कि सुतली बम अंदर ही दहशत फैलाने के लिए छोड़े गए हैं। इतनी सुरक्षा के रहते बाहर से तो बम फेंकना मुश्किल लगता है।
दिनभर पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौके पर ही डेरा डाले रहे। दोपहर गांव में सतवीर का शव गांव में पहुंचा तो फिर से लोगों में आक्रोश फैल गया। लोगों ने शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया।
अधिकारियों ने पीड़ित परिवार को दस लाख रुपये मुआवजा देने और सरकारी नौकरी के लिए शासन को संस्तुति भेजने का आश्वासन देकर शांत किया। पुलिस ने हत्या में नामजद दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जिससे लोगों का आक्रोश थोड़ा कम हुआ, लेकिन इसका अमत नहीं हुआ है।
जैसा हम जानते हैं मीरापुर के भूम्मा गांव में सतवीर कश्यप उर्फ गुलगुल की हत्या के बाद माहौल बिगड़ गया था। दोनों समुदायों में पथराव और हवाई फायरिंग हुई थी। कार्यवाहक डीएम रामकिशन शर्मा और एसपी क्राइम राकेश कुमार जौली के नेतृत्व में रातभर पुलिस टीमें गांव में गश्त करती रहीं। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए इलाके में आरएएफ की तैनाती भी की गई थी।

Leave a Response

Awadhesh Kumar
A well known Public figure,Tv Panellist, Versatile senior Journalist,writer, popular public speaker in high demand, Political Analyst as well as Social Political Activist.

Top Reviews

Video Widget