- Advertisement -

आजकल - अवधेश कुमार

Uncategorized

गणतंत्र Republic

तंत्र में गण की संपूर्ण प्रतिष्ठापना का लक्ष्य बाकी है  अवधेश कुमार भारत इस मायने में अनूठा है जहां स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस अलग-अलग मनाए जाते हैं। 15 अगस्त, 1947 को हम अंग्रेजों की दासता से स्वतंत्र अवश्य हुए पर  26 जनवरी ,1950 को गणतंत्र यानी अपना तंत्र अपनाया।...
ElectionIndia/ भारतPolitics/ राजनीतिचुनावराज्य

Election 5 states

इन चुनावों से भविष्य की राजनीति का संकेत मिलेगा  अवधेश कुमार वर्तमान स्थितियों के आकलन में राजनीति एवं समीकरणों के लिहाज से  राज्य ऐसे संकेत नहीं दे रहे कि वहां बड़ी उथल-पुथल होने वाली है। चुनाव में जीत हार चलता रहता है लेकिन अगर जीत या हार बहुत बुरी हो...
CommunalismDharmaPersonPolitics/ राजनीतिबहस

Kalicharan, Gandhi, Godsey, Dharmasansad and case

कालीचरण महाराज द्वारा गोड्से काे प्रणाम करने का विरोध सही पर यह देशद्रोह का मामला नहीं अवधेश कुमार लोकतांत्रिक समाज में किसी की आलोचना हो सकती है। राम, कृष्ण, विष्णु, शिव , हनुमान, देवी दुर्गा आदि सबकी आलोचना समय-समय पर अपने वक्तव्य और लेखन में स्वयं पंडितों ने ही की...
CultureIndia/ भारतPolitics/ राजनीतिविचार

ईसा संवत् 2022 में भारत

भारतवर्ष विश्व के लिए प्रेरक और आदर्श बनेगा अवधेश कुमार किसी व्यक्ति समाज और देश की सफलता के लिए सबसे पहली शर्त सामूहिक मनोदशा यानी माहौल का है। व्यक्ति के अंदर अगर आत्मविश्वास है, सकारात्मकता है ,आशा और उम्मीद है तो वह बड़े से बड़े लक्ष्य को पा सकता है।...
Uncategorized

Bangladesh pre-planned violence against Hindus

बांग्लादेश में हिंदुओं को खत्म करने के लिए हुई सुनियोजित हिंसा  अवधेश कुमार इस प्रकार की हिंसा अपने आप नहीं होती। इसकी जड़ें गहरी हैं। लंबे समय से हिंदुओं और अल्पसंख्यक समुदाय के विरुद्ध पैदा की गई घृणा तथा बांग्लादेश को सम्पूर्ण इस्लामिक राज बनाने का प्रचार चलता रहा है...
Uncategorized

Salaman book Ayodhya hindu

हिंदुत्व को बोको हरम आईएस बताने वाले खुद क्या है अवधेश कुमार सलमान खुर्शीद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं। केंद्र सरकार में कैबिनेट स्तर के कई मंत्रालय उन्होंने संभाले हैं। ऐसे व्यक्ति से आशा की जाती है कि वह एक - एक शब्द लिखने के पहले सोचेगा कि इसकी क्या...
1 2 3 58
Page 1 of 58