- Advertisement -

आजकल - अवधेश कुमार

ElectionPolitics/ राजनीतिचुनाव

5 states verdicts meaning

चुनाव परिणाम यही आना था अवधेश कुमार इन चुनाव परिणामों का निष्कर्ष यही है कि अपने प्रभाव वाले राज्यों में भाजपा अभी भी सक्षम और प्रभावी शक्ति है। विपक्ष में अभी ऐसे नेता एवं पार्टियों का प्रभाव है जो भाजपा के प्रभाव वाले राज्यों में इसे व्यापक क्षति वाली चुनौती...
ElectionPolitics/ राजनीतिचुनाव

Ele 5 states verdict

पांच राज्यों के जनादेश से किन्हें धक्का लगा  अवधेश कुमार किसी दल, विचारधारा या नेताओं से वितृष्णा से परे हटकर निष्पक्षता से विश्लेषण करें तो इन पांच राज्यों ने देश के आम जन की सामूहिक सोच को प्रकट किया है। यह सोच साफ करती है कि भाजपा और उसके नेताओं...
Uncategorized

उप्र चुनाव में क्या होगा

 भाजपा के लिए कैसे बन गई उत्तर प्रदेश चुनाव एक बड़ी चुनौती अवधेश कुमार  उत्तर प्रदेश चुनाव को निकट से देखने के बावजूद मेरे लिए परिणाम का पूर्व आकलन कारण कठिन हो गया। आरंभ से ही यह साफ दिख रहा था कि मुसलमान और अपवाद को छोड़ दें तो यादव...
Uncategorized

योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से उम्मीदवार

योगी की उम्मीदवारी को मुद्दा बनाना अवधेश कुमार योगी और मौर्या दोनों के लिए क्षेत्र से चुनाव लड़ने का मतलब यह हुआ कि उन्हें पूरे प्रदेश में चुनाव अभियान चलाने तथा रणनीति बनाने का पूरा अवसर उपलब्ध है। नई जगह से उनको अपने चुनाव की भी थोड़ी चिंता होती तथा...
Uncategorized

गांधी जी की पुण्यतिथि

गांधीवादी बनाम गोडसे वादी अवधेश कुमार गांधीजी का स्मरण निश्चित रूप से आज के दिन किया ही जाना चाहिए। अच्छा है कि देश में गांधीजी और नाथूराम गोडसे को लेकर बहस चल रही है। उनकी नृशंस हत्या जिस तरह हुई वो किसी भी विवेकशील भारतीय का दिल दहलाने वाला है।...
Uncategorized

गणतंत्र Republic

तंत्र में गण की संपूर्ण प्रतिष्ठापना का लक्ष्य बाकी है  अवधेश कुमार भारत इस मायने में अनूठा है जहां स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस अलग-अलग मनाए जाते हैं। 15 अगस्त, 1947 को हम अंग्रेजों की दासता से स्वतंत्र अवश्य हुए पर  26 जनवरी ,1950 को गणतंत्र यानी अपना तंत्र अपनाया।...
1 2 3 59
Page 1 of 59